Sun. Jun 16th, 2024

नई दिल्ली,राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि को पूरे देश में शहीद दिवस के रूप में मनाया गया । रविवार को प्रातः 11 से 11.02   पर दो मिनट का मौन रखते हुए देश की आजादी में अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। नई दिल्ली स्थित राजघाट पर महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस अवसर पर सर्व धर्म प्रार्थना का भी आयोजन किया गया।फोटो आभार-दूरदर्शन नेशनल

जयपुर,राजस्थान कला एवं संस्कृति मंत्रालय द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के अवसर पर” विश्व के गांधी” विषय पर व्याख्यान माला का आयोजन किया गया। इस अवसर पर गांधी के प्रतिमूर्ति स्वर्गीय डॉक्टर एसएन सुबाराव के अंतिम अधिकारिक उद्बोधन का प्रसारण किया गया । कला एवं संस्कृति मंत्री डॉक्टर बी डी कल्ला ने अध्यक्षीय उद्बोधन में गांधी के आदर्शों को अपने जीवन में उतारने के लिए आमजन को प्रेरित किया । उन्होंने कहा कि यूपीए चेयरपर्सन श्रीमती सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में महात्मा गांधी के जन्म दिवस 2 अक्टूबर को यह प्रस्ताव पारित करके यूएनओ को भेजा गया कि पूरे विश्व में 2 अक्टूबर को अहिंसा दिवस के रूप में मनाया जाना चाहिए । मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने उद्बोधन में कहा कि गांधी के आदर्शों की आज पूरे विश्व में आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि राजस्थान देश का एक पहला प्रदेश है जहां पर महात्मा गांधी के नाम पर निदेशालय की स्थापना की गई है यहां पर महात्मा गांधी के आदर्शों को पढ़ने के लिए विद्यार्थियों के लिए महात्मा गांधी के सभी साहित्य को उपलब्ध करवाया जाएगा । मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि महात्मा गांधी के आदर्श जीवन को समझने के लिए जयपुर में एक म्यूजियम की स्थापना की गई है जिसका काम तेज गति से करवाया जा रहा है। गांधी एवं अहिंसा निदेशालय के निदेशक मनीष शर्मा ने अपने धन्यवाद भाषण में कहां की महात्मा गांधी की पुण्यतिथि के अवसर पर राजस्थान प्रदेश केे सभी जिला एवं ब्लाक स्तर पर गांधी जीवन दर्शन समिति के समन्वयको के निर्देशन में अहिंसा एवं शांति संदेश यात्राएं निकाली गई । महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर राजस्थान के सभी जिलों के गांधी विचारक इस व्याख्यानमाला में वर्चुअल जुड़े रहे। इस दौरान बीकानेर के जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल, अतिरिक्त कलक्टर(नगर) अरुण प्रकाश शर्मा,जिला जनसम्पर्क अधिकारी  हरिशंकर आचार्य,समाज कल्याण विभाग के उपनिदेशक एल॰डी॰पँवार ,गांधी जीवन दर्शन समिति के संजय आचार्य,मनोज व्यास मौजूद रहे।

बीकानेर , गांधी पार्क में कार्यक्रम हुआ। जहां जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल और महापौर सुशीला कंवर राजपुरोहित सहित अनेक लोगों ने बापू को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस दौरान आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रमों की श्रंखला में शांति मार्च निकाला गया। जिला कलक्टर और महापौर ने हरी झंडी दिखाकर इसे रवाना किया।
इस अवसर पर जिला कलक्टर ने कहा कि महात्मा गांधी अहिंसा और सत्याग्रह के पक्षधर थे। उन्होंने देश को आजादी दिलाने में अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया। आज का दिन उनके मूल्यों को अपने जीवन में उतारने का दिन है। उन्होंने कहा कि हमे सभी विचारधाराओं और संस्कृतियों के सम्मान के साथ अहिंसा के रास्ते पर चलने का संकल्प लें।
महापौर ने कहा कि युवाओं को गांधी जी के सिद्धांतों से शिक्षा लेनी चाहिए। देश को आजाद करवाने में उनके योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा।
इस अवसर पर जिला कलक्टर ने कुष्ठ रोग निवारण से संबंधित संदेश पर हस्ताक्षर किए। इस संदेश का वाचन उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. लोकेश गुप्ता ने किया।
कार्यक्रम प्रभारी डॉ. सत्यनारायण जाटोलिया ने बताया कि शांति मार्च में एनएसएस, एनसीसी, स्काउट गाइड और स्वयं सहायता समूहों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। शांति मार्च यहां से शुरू होकर जूनागढ़ के आगे पहुंची। कार्यक्रम का संचालन संजय पुरोहित ने किया।
इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) अरुण प्रकाश शर्मा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक एलडी पंवार, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीएल मीणा, स्काउट गाइड के मान महेंद्र सिंह, सीओ जसवंत सिंह राजपुरोहित, गजेंद्र सिंह सांखला, यशपाल गहलोत, जिया उर रहमान, सुनीता गौड़, राजकुमार किराडू, दिलीप बांठिया, गजानंद शर्मा, जयदीप सिंह जावा, सोनूराज आसूदानी, नितिन वत्सस, राहुल जदूसंगत, मनोज किराडू, मनोज चौधरी, सुनील जावा सहित अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *