Thu. Jun 13th, 2024

*संभागीय आयुक्त की अध्यक्षता में बैठक आयोजित

बीकानेर संभाग के चारों जिलों में नशा मुक्ति का सघन अभियान ‘न करेंगे न करने देंगे’ चलाया जाएगा। अभियान का पहला चरण 14 फरवरी से 23 मार्च तक आयोजित होगा। संभागीय आयुक्त नीरज के. पवन ने बुधवार को अभियान की तैयारी बैठक में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में प्रत्येक उपखंड क्षेत्र में जागरूकता का सघन अभियान चलाया जाएगा तथा पुलिस द्वारा नशाखोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि युवाओं में बढ़ती नशाखोरी के मद्देनजर इस अभियान को प्रत्येक क्षेत्र तक पहुंचाने के प्रयास होंगे। अभियान से संबंधित हैल्पलाइन शीघ्र ही जारी की जाएगी तथा समूची मॉनिटरिंग के लिए संभाग स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाएगा।
संभागीय आयुक्त ने कहा कि अभियान में स्कूल, कॉलेज, कोचिंग, शिक्षक प्रशिक्षण संस्थान तथा स्वयंसेवी संस्थाओं की भागीदारी रहेगी। अभियान की शुरूआत 14 फरवरी को संभाग, जिला व उपखंड क्षेत्रों से 14 फरवरी को की जाएगी। इसके तहत स्कूलों-कॉलेजों में प्रचार सामग्री व नशा मुक्ति से संबंधित पम्पलेट एवं पोस्टर वितरित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि संभाग की सभी ग्राम पंचायतों व पालिका क्षेत्रों में नशा मुक्ति का संकल्प पारित करवाया जाएगा। सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफॉर्म्स का उपयोग कर आमजन में जागरूकता लाई जाएगी। उन्होंने संभाग के सभी जिलों में कोटपा एक्ट के तहत प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
*जिला स्तरीय टास्क फोर्स का गठन*
संभागीय आयुक्त ने बताया कि नशा मुक्ति अभियान के तहत संभाग के प्रत्येक जिले में जिला स्तरीय टास्क फोर्स का गठन किया जाएगा। इसमें जिला प्रशासन एवं पुलिस के अधिकारी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के अधिकारी तथा विभिन्न एनजीओ प्रतिनिधि सदस्य होंगे। नशे के अवैध कारोबार की सूचना मिलने पर टास्क फोर्स द्वारा तत्काल कार्यवाही की जाएगी तथा आवश्यकतानुसार बैठकें आयोजित करवाई जाएगी।
*’जारी होगी हैल्पलाइन’*
संभागीय आयुक्त ने बताया कि अभियान के तहत प्रत्येक जिले में एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए जाएंगे। इस हेल्पलाइन नंबर पर कोई भी व्यक्ति मादक पदार्थों के अवैध कारोबार व सेवन की सूचना दे सकेगा। सूचना देने वाले व्यक्ति का नाम गोपनीय रखा जाएगा तथा सही सूचना पाए जाने पर सूचना करने वाले को उचित पुरस्कार दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिलों में अभियान का नेतृत्व जिला कलक्टर करेंगे।
बैठक में पुलिस महानिरीक्षक ओम प्रकाश, बीकानेर जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल, श्रीगंगानगर जिला कलेक्टर रुकमणी सिहाग, चूरू जिला कलक्टर सिद्धार्थ सिहाग, बीकानेर पुलिस अधीक्षक योगेश यादव, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी नित्या के., अतिरिक्त संभागीय आयुक्त ए एच गौरी, प्रशिक्षु आईएएस धीरज सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीएल मीणा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता के उपनिदेशक एल डी पंवार, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के उपनिदेशक डॉ. राहुल हर्ष सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद रहे।,
—–

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *