Thu. Jun 13th, 2024

बीकानेर का सीएमएचओ पद पिछले करीब 1 वर्ष से हॉट सीट बना हुआ है । इस पद पर राजनीति का पूर्ण रूप से हस्तक्षेप दिखाई दे रहा है । पिछले 1 वर्ष से यह सीट हॉट सीट बन कर रहगई है । कोरोना काल के दौरान डॉ बीएल मीणा ने इस पद पर रहते हुए काम किया फिर इनका तबादला कर दिया गया ।उस समय डॉक्टर बी एल मीणा ने कोर्ट से स्टे ले लिया और कलेक्टर कार्यालय से कोरोना के प्रबंधन का कार्य करते रहे ।उसके बाद डॉ सुकुमार को नागौर से लाकर इस पद की जिम्मेदारी सौंपी गई लेकिन उनका भी कुछ समय पश्चात तबादला कर जयपुर में प्रोटोकॉल ऑफिसर लगा दिया गया । फिर इसका जिम्मा डॉक्टर ओपी चाहर को दिया गया पिछले लंबे समय से डॉ मीणा इस पद पर आने के लिए अपनी जोर आजमाइश कर रहे थे और अंततः उनको इसमें सफलता मिली ।बी एल मीणा के सीएमएचओ पद का कार्यभार संभालते ही जिला कलेक्टर के आगे अनेक लोगों ने इनके पदस्थापन का विरोध किया यहां तक इनका पुतला भी जलाया गया वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के अनेक पार्षदों और अन्य लोगों ने मिलकर कार्यालय में जाकर स्वागत भी किया । इस घटनाक्रम से यह प्रतीत होता है कि इस पद पर आने के लिए हर चिकित्साधिकारी प्रयासरत रहता है लेकिन राजनीति में रसूख रखने वाले व्यक्ति ही संभवतया सफल हो पाते हैं । बी एल मीणा की नियुक्ति का विरोध करने वाले लोगों का कहना है कि उन्होंने अपने पिछले कार्यकाल के दौरान चिकित्सा कर्मियों की भर्ती के समय कम अंक वाले लोगों को अवसर दे दिया जबकि अधिक अंक वाले लोगों को नियुक्तियां नहीं मिली । उन्होंने उनके द्वारा की गई नियुक्तियों की जांच की मांग की है एक तरफ बी एल मीणा के कार्यों से संतुष्ट लोगों का कहना है कि कोरोना काल के दौरान डॉ बीएल मीणा ने कुशल प्रशासनिक प्रबंधन का का परिचय देते हुए हुए लोगों को रिलीफ देने का कार्य किया ऐसे में हम लोगों का उत्तर दायित्व बनता है कि हम ऐसे लोगों का उत्साह वर्धन करें।news7zones@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *