Thu. Jun 13th, 2024

शैक्षिक  नवाचारों राजस्थान देश का अग्रणी राज्य-डॉ. कल्ला

जयपुर, 21 मार्च। शिक्षा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला ने कहा कि राजस्थान, शैक्षिक विकास की दृष्टि से देश के तीन अग्रणी राज्यों में शामिल है। प्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग विद्यालयों में नवाचारों के माध्यम से विद्यार्थियों को सुयोग्य नागरिक बनाते हुए शैक्षणिक प्रगति के नए आयाम स्थापित कर रहा है। स्मार्ट शाला प्रोग्राम के तहत विद्यार्थियों को गणित और अंग्रेजी जैसे कठिन विषयों में पारंगत बनाने के लिए सुगम तकनीक और सरल तरीकों से क्लास रूम टीचिंग देने की पहल इसी दिशा में अहम कदम है।

डॉ. कल्ला मंगलवार को प्रदेश के आठ जिलों धौलपुर, करौली, बारां, सिरोही, जैसलमेर, जोधपुर, जयपुर एवं बीकानेर के चिह्नित विद्यालयों में राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद और सम्पर्क फाऊंडेशन के बीच एमओयू के तहत स्मार्ट शाला प्रोग्राम के शुभारम्भ समारोह को वर्चुअल माध्यम से सम्बोधित कर रहे थे। यह कार्यक्रम शिक्षा विभाग, स्कूल शिक्षा परिषद, सम्पर्क फाऊंडेशन एवं आईआईएफएल फाऊंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया गया।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि हर व्यक्ति जीवन में कुछ बनते हुए अपना अलग मुकाम हासिल करना चाहता है, जो अच्छी तालीम से ही सम्भव है। इसी सोच के साथ प्रदेश में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के जरिए विद्यार्थियों को परिपक्व बनाने के लिए शिक्षक और अधिकारी कड़ी मेहनत और लगन से कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसी के परिणामस्वरूप स्कूल शिक्षा विभाग ने सर्वधर्म प्रार्थना सभा, चैस इन स्कूल प्रोग्राम और आर्टिफिसियल इंटेलीजेंस (एआई) के माध्यम से उत्तर पुस्तिकाओं की जांच जैसी अलग-अलग गतिविधियों में छः विश्व रिकार्ड बनाए हैं।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद के आयुक्त एवं राज्य परियोजना निदेशक डॉ. मोहन लाल यादव ने कहा कि सम्पर्क स्मार्ट स्कूल प्रोग्राम के तहत प्रदेश के पांच एस्पिरेशनल डिस्ट्रिक्ट धौलपुर, करौली, बारां, सिरोही एवं जैसलमेर के अलावा जोधपुर, जयपुर एवं बीकानेर के विद्यालयों में स्मार्ट कक्षाएं स्थापित कर साउंड बॉक्स, पजल्स, लेसल प्लान, टीचिंग विडियोज़, मैथ्स एवं अंग्रेजी के किट्स और चैट बोट जैसी तकनीकों के माध्यम से शिक्षण कार्य कराया जा रहा है। इसके लिए इन जिलों के सम्बंधित विद्यालयों के टीचर्स को विशेष प्रशिक्षण भी दिलाया जा रहा है।

कार्यक्रम में राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद के आयुक्त डॉ. मोहन लाल यादव, उपायुक्त श्री मुरारी लाल शर्मा, अतिरिक्त निदेशक श्रीमती ममता दाधीच, सम्पर्क फाऊंडेशन के सीईओ श्री विश्व बंधु एवं आईआईएफएल फाऊंडेशन की निदेशक श्रीमती मधु जैन ने आठ जिलों में स्मार्ट शाला कार्यक्रम के तहत वितरित की जाने वाली किट्स एवं अन्य सामग्री को रिलीज किया। इस मौके पर इन जिलों से सम्बंधित चुनिंदा विद्यालयों के शिक्षकों को किट्स और टीवी डिवाइसेज का वितरण किया गया। इस मौके पर ‘माई स्मार्ट स्कूल‘ के एक पोस्टर का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम का संचालन सहायक निदेशक डॉ. नीरू पोटलिया ने किया।

इस अवसर पर उप निदेशक श्री मोटाराम भादू, सम्पर्क फाऊंडेशन के सीएफओ, श्री मनीष चांडक सहित आठ जिलों से सम्बंधित डाइट के प्राचार्य, अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक, मुख्य ब्लॉक प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी, शिक्षकगण और गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।
——

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *