Sun. Jun 16th, 2024


शहर के मौजीज लोगों के साथ पुलिस- प्रशासन की बैठक आयोजित


बीकानेर, 4 जनवरी। बीकानेर का आपसी सौहार्द और अपनापन पूरे देश में विशिष्ट स्थान रखता है। यहां के लोग होली, दीवाली और ईद जैसे त्योहार साथ मनाते हैं। एक दूसरे के सुख-दुःख में भागीदार बनते हैं। यह आपसी प्रेम सदैव बना रहे, इसके लिए समाज के प्रबुद्धजनों को पहल करनी होगी और खासकर युवा पीढ़ी को बीकानेर की इस परंपरा को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित करना होगा।
कलेक्ट्रेट सभागार में मंगलवार को आयोजित बैठक में शहर के मौजीज लोगों ने यह बात कही। सभी ने पिछले दो दिनों में हुई घटना पर दुःख जताया तथा इसे बीकानेर की संस्कृति के विरुद्ध बताया। साथ ही कहा कि ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए शहर के प्रबुद्ध नागरिक समाज को दिशा दिखाने का प्रयास करें। बैठक में जिला कलेक्टर नमित मेहता ने कहा कि बीकानेर को छोटी काशी के नाम से जाना जाता है। यहां का सद्भाव बना रहे, यह हमारी सामूहिक जिम्मेदारी है। पुलिस और प्रशासन द्वारा शहर की अमन शांति बिगाड़ने वालों की विरुद्ध नियमानुसार सख्त कार्यवाही की जाएगी। शहरवासी भी जिम्मेदार नागरिक होने के नाते अपने स्तर पर माहौल को सौहार्दपूर्ण रखने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन मौजीज लोगों के साथ सतत संवाद बनाए रखेगा। पुलिस अधीक्षक योगेश यादव ने कहा कि आपराधिक तत्वों के विरुद्ध पुलिस द्वारा सख्त कार्रवाई की जाएगी। शहर की परंपरा को बनाए रखने में सभी वर्गों की सुलझे हुए लोग आगे आएं और जिला तथा मोहल्ला स्तर पर सद्भाव कमेटियों का गठन करते हुए शहर के अमन चैन को बरकरार रखने का प्रयास करें। बैठक के दौरान नगर विकास न्यास के पूर्व अध्यक्ष मकसूद अहमद, यशपाल गहलोत, मोहम्मद हारुन राठौड़, माशूक अहमद, श्रीलाल व्यास, अब्दुल मजीद खोखर, गिरिराज सेवग, इकबाल हुसैन समेजा, बाबू लाल गहलोत, जतिन यादव, द्वारका प्रसाद पच्चीसिया, रवि पुरोहित, फरमान अली सहित अन्य प्रबुद्धजनों ने अपने विचार रखे। सभी वक्ताओं ने बीकानेर की सांप्रदायिक सद्भाव की परंपरा तथा एकता को बनाए रखने के साथ यहां की संस्कृति को समझने की बात कही। उन्होंने कहा कि बीकानेर, भाईचारे की तहजीब वाला शहर है। किसी भी रूप में इस सौहार्द को बिगाड़ने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। इस दौरान अतिरिक्त संभागीय आयुक्त एएच गौरी, अतिरिक्त जिला कलेक्टर (शहर) अरुण प्रकाश शर्मा, उपखंड अधिकारी अशोक कुमार बिश्नोई, राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी पवन सुथार, वृत्त निरीक्षक सुभाष बिजारनिया, नितिन चड्ढा, मकबूल हुसैन सोढा, फरमान कोहरी, हरी किशन भाटी, प्रेम खंडेलवाल, विलियम शर्मा, मनोज व्यास, विजय ऐलानी, विकास तंवर, मोहम्मद फारुख, रमजान अली कच्छावा, सोहन चौधरी, लियाकत अली, आजम अली कायमखानी, पवन कुमार, बाबू लाल गहलोत, शिव कुमार गहलोत, दिनेश कच्छावा, राजेंद्र कुमार भाटी, विकास तवर आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *