Sun. Jun 16th, 2024

*ऊर्जा मंत्री ने किया दो दिवसीय पुस्तक मेले का उद्घाटन, रविवार को भी रहेगा जारी*

बीकानेर, 23 अप्रैल। ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने शनिवार को विश्व पुस्तक दिवस के अवसर पर राजकीय सार्वजनिक मंडल पुस्तकालय परिसर में आयोजित दो दिवसीय पुस्तक मेले का उद्घाटन किया।
इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री ने कहा कि पुस्तकें हमारी सच्ची मित्र होती हैं। हजारों वर्षों से पुस्तकों का हमारे जीवन पर महत्वपूर्ण प्रभाव रहा है। आज भी इनकी भरपूर उपयोगिता है। उन्होंने कहा कि हमें नियमित रूप से किताबें पढ़ने की आदत डालनी चाहिए। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि मोबाइल और सोशल मीडिया के बढ़ते प्रभाव के कारण आज का युवा किताबों से दूर होता जा रहा है। यह चिंता का विषय है। ऐसे में पुस्तक मेले जैसे आयोजन युवाओं में नई चेतना का संचार करेंगे। उन्होंने पुस्तकालय विकास समिति के प्रयासों को सराहा और कहा कि समय-समय पर ऐसे कार्यक्रम आयोजित किए जाएं।
जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) सुरेंद्र सिंह भाटी ने कहा कि किताबें हमें सही और गलत का ज्ञान करवाती हैं और आगे बढ़ने की प्रेरणा देती हैं। उन्होंने कहा कि अभिभावकों को चाहिए कि वे छोटे बच्चों को किताबें पढ़ने के लिए प्रेरित करें। घरों में पुस्तक फ्रेंडली माहौल हो।
सहायक निदेशक (जनसंपर्क) और पुस्तकालय विकास समिति के अध्यक्ष हरि शंकर आचार्य ने बताया कि पुस्तक मेले में 25 प्रकाशकों तथा 10 लेखकों की पुस्तकें विक्रय एवं प्रदर्शन के लिए रखी गई हैं। इनमें हिंदी, राजस्थानी, उर्दू और अंग्रेजी की पुस्तकें सम्मिलित हैं। बाल साहित्य की भी अनेक पुस्तकें यहां रखी गई हैं। उन्होंने बताया कि रविवार को प्रातः 10 से सायं 7 बजे तक पुस्तक मेला आमजन के निशुल्क अवलोकनार्थ खुला रहेगा।
पुस्तकालयाध्यक्ष विमल कुमार शर्मा ने स्वागत उद्बोधन दिया। पुस्तकालय विकास समिति के सदस्य आत्माराम भाटी ने आगंतुकों का आभार जताया। संजय पुरोहित ने कार्यक्रम का संचालन किया। इस दौरान गौरव मूंधड़ा और शिवलाल गोदारा भी बतौर अतिथि मौजूद रहे।
कार्यक्रम में डॉ. एसएन हर्ष, डॉ. बसंती हर्ष, डॉ. अजय जोशी, डॉ. प्रशांत बिस्सा, डॉ. गौरी शंकर प्रजापत, डॉ. नितिन गोयल, डॉ. मोहम्मद फारूक चौहान, शरद केवलिया, सुनीलम पुरोहित, अशोक रंगा, कासिम बीकानेरी, मोइनुदीन कोहरी, असद अली ‘असद’ आदि मौजूद रहे। इससे पहले ऊर्जा मंत्री ने दीप प्रज्वलित कर तथा फीता काटकर पुस्तक मेले का उद्घाटन किया। छात्राओं ने सरस्वती वंदना की प्रस्तुति दी।
*इनकी लगाई गई है स्टाल*
पुस्तक मेले में विभिन्न प्रकाशकों के अलावा राजस्थान प्राच्य विद्या प्रतिष्ठान, गंगा राजकीय संग्रहालय, राजस्थानी भाषा साहित्य एवं संस्कृति अकादमी, राजस्थान राज्य अभिलेखागार, साधुमार्गी पब्लिकेशन, जांभानी साहित्य अकादमी, कवि चौपाल प्रकाशन की पुस्तकें रखी गई हैं।
*ऊर्जा मंत्री ने खरीदी पुस्तकें, प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवाओं को किया मोटिवेट*
प्रदर्शनी के उद्घाटन के दौरान ऊर्जा मंत्री भाटी ने स्व. उपध्यान चंद कोचर और जिया उल हसन कादरी की ‘हजार हवेलियों का शहर’ और प्रवीण कड़वासरा की ‘तीर्थ स्थल कोलायत’ पुस्तकें क्रय की और आमजन को पुस्तकें खरीद कर पढ़ने का संदेश दिया। इस दौरान उन्होंने पुस्तकालय में विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवाओं से बातचीत की और उन्हें पूर्ण समर्पण के साथ जुटने का आह्वान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *