Thu. Jun 13th, 2024

700 से अधिक खिलाड़ी बीकानेर पहुंचे

शिक्षा विभाग राजस्थान में मैं पहली दफा स्कूली गेम में शामिल शतरंज खेल का रुझान जबरदस्त देखने को मिल रहा है । पूरे राजस्थान में जिला स्तर पर संपन्न  के बाद बीकानेर में आयोजित हो रही राज्य स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता में भी विद्यार्थियों का जबरदस्त रुझान देखने को मिल रहा है।  शिक्षा मंत्री डॉक्टर बी डी कल्ला के गृह जिले में हो रही राज्य स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता में पूरे राजस्थान के 30 जिलों के लगभग 700 के करीब खिलाड़ी और 200 से अधिक दल प्रभारी और निर्णायक हिस्सा ले रहे हैं ।

रमेश इंग्लिश स्कूल कर रहा आयोजन

इस राज्य स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता के संयोजक विद्यालय रमेश इंग्लिश स्कूल की निदेशक सेणुका हर्ष ने बताया कि इस प्रतियोगिता में इतने विद्यार्थियों के आने की उम्मीद नहीं थी लेकिन डॉक्टर बी डी कल्ला के प्रयासों से chess in school के अभियान के कारण खिलाड़ियों में खासा उत्साह दिखाई दे रहा है । छात्र-छात्राओं की 17 व 19 वर्ष की प्रतियोगिताएं रमेश इंग्लिश स्कूल के सानिध्य में की जा रही है । शिक्षा विभाग के निर्णायक मंडल के संयोजक हर्षवर्धन हर्ष ने बताया कि  खिलाड़ियों में जबरदस्त खेलने का रुझान दिखाई दे रहा है । कार्यक्रम के उप संयोजक बुलाकी हर्ष की पूरी टीम आनंद व्यास ऋषि राज व्यास भवानी शंकराचार्य आयोजन को सफल बनाने में जुटी हुई है । उप जिला शिक्षा अधिकारी अनिल बोडा़ के अनुसार यह मानसिक श्रम का खेल है और इसमें विद्यार्थी को नॉकआउट के आधार पर प्रतियोगिता से बाहर नहीं किया जाता । नियम अनुसार सभी खिलाड़ियों को अपने राउंड के मैच खेलने पड़ेंगे और उसमें प्राप्त अंकों के आधार पर ही खिलाड़ी को विजेता घोषित किया जाएगा ।

उद्घाटन समारोह में पहुंचे अंतरराष्ट्रीय निर्णायक

उद्घाटन समारोह के अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय निर्णायक एवं पदाधिकारी एस एल  हर्ष ने शिरकत की । उनके साथ जस्टिस महेश शर्मा भी मौजूद रहे । श्री  एस एल  हर्ष ने बताया कि राजस्थान के इतिहास में पहली बार शिक्षा विभाग राजस्थान ने डॉक्टर बी डी कल्ला के प्रयासों से पूरे राजस्थान में  chess in school स्कूल का आगाज किया है । उसी  का यह परिणाम है कि आज रिकॉर्ड तोड़ विद्यार्थी इस राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में हिस्सा ले रहे हैं ।यह खेल विद्यार्थियों के मानसिक स्तर को और मजबूत बनाता है । उन्होंने खेल के संयोजक रमेश  स्कूल के सभी पदाधिकारियों को साधुवाद दिया कि उन्होंने इस खेल को सरंक्षण देने के लिए इतना बड़ा जिम्मा उठाया । जस्टिस महेश चंद्र शर्मा इस शतरंज खेल को जन-जन तक पहुंचाने के लिए सभी  शिक्षकों एवं अभिभावकों को सक्रिय रहने का अनुरोध किया ।

शिक्षा विभाग की पहल

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए उपनिदेशक खेलकूद अरविंद व्यास ने कहा कि पूरे राजस्थान में chess in school  का आगाज 19 नवंबर को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के जन्म दिवस पर किया जाएगा । शिक्षा निदेशालय खेलकूद विभाग के प्रभारी अशोक व्यास ने बताया कि शतरंज खेल को पहली दफा स्कूली गेम में शामिल किया गया है अब इस खेलकूद में भाग लेने वाले खिलाड़ियों के प्रमाण पत्र भी राजकीय सेवाओं में अंक के लिए काम में लिए जा सकेंगे । उन्होंने बताया कि शतरंज के अलावा 29 और खेलों को पहली दफा अशोक गहलोत सरकार ने स्कूली खेलकूद में शामिल किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *