Sun. Jun 16th, 2024

पहली बार जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक लूणकरणसर में आयोजित

बीकानेर, 15 फरवरी। जिला स्वास्थ्य समिति की गत बैठक में जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल द्वारा प्रदत्त निर्देशों की पालना में जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा विभिन्न चिकित्सा संस्थानों का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में निकल कर आया कि कई संस्थानों पर कुछ गर्भवतियों का दो बार एएनसी पंजीकरण हो गया और उसके पेटे आशा सहयोगिनी को दो बार इंसेंटिव का भुगतान भी हो गया। एक ही गर्भवती की दो एएनसी पंजीकरण होने के कारण उसका डिलीवरी रिकॉर्ड पीसीटीएस सॉफ्टवेयर में दर्ज नहीं हो पाया और वह मिसिंग डिलीवरी के रूप में आंकड़ों में परिलक्षित हो रही थी। उक्त जानकारी बुधवार को लूणकरणसर के आईटी सेवा केंद्र सभागार में आयोजित जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में दी गई। जिला कलेक्टर ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल जिला स्तरीय कमेटी बनाकर मामले की जांच के आदेश दे डाले। उन्होंने स्पष्ट किया कि जानबूझकर राजकोष को हानि पहुंचाते हुए किसी प्रकार की अनियमितता पाई गई तो रिकवरी ही नहीं, संबंधित पर सख्त दंडात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी । उल्लेखनीय है कि गत डीएचएस में लिए गए निर्णय अनुसार सबसे कम उपलब्धि वाले खंड के तौर पर लूणकरणसर में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित की गई तथा उस खंड के अधिकांश चिकित्सा संस्थानों का निरीक्षण जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा किया गया। जिला कलेक्टर ने निर्देश दिए कि 9 ग्राम से कम हिमोग्लोबिन वाली प्रत्येक गर्भवती महिला की ट्रैकिंग चिकित्सा अधिकारी प्रभारी व्यक्तिगत रूप से करेंगे और ब्लॉक सीएमओ द्वारा उसकी प्रभावी मॉनिटरिंग की जाएगी। उन्होंने गर्भावस्था की 12 से 25 सप्ताह के दौरान होने वाली समस्त सोनोग्राफी की भी ट्रेकिंग के निर्देश दोहराए ताकि जन्म पर लिंगानुपात में प्रगति बनी रहे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मोहम्मद अबरार पवार ने वृंदावन एंक्लेव में प्रस्तावित जनता क्लीनिक तथा अन्य वित्तीय प्रस्ताव सदन में रखें। मेजबान ब्लॉक सीएमओ लूणकरणसर डॉ विभय तंवर व ब्लॉक सीएमओ बीकानेर डॉ सुनील हर्ष द्वारा अपने-अपने खंड की विस्तृत प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। जिला कलेक्टर द्वारा विद्यालयों में आईएफए टेबलेट की आपूर्ति, एनसीडी सर्वे के लिए आशाओं के भुगतान, आईएचआईपी पोर्टल पर शत प्रतिशत इंद्राज, निजी चिकित्सालय में हो रही डिलीवरी की पीसीटीएस सॉफ्टवेयर में इंद्राज व टीबी सर्विलांस के लिए अधिकाधिक स्पुटम जांच करवाने संबंधी निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना में जिला लगातार 11 माह पहले स्थान पर रहा। इस संदर्भ में जिले में पहले तीन स्थानों पर रहने पर क्रमशः पीएचसी राजासर भाटियान, रानेर दामोलाई व सीएचसी हदां को रनिंग शील्ड देकर सम्मानित किया गया।
बैठक में उपखण्ड अधिकारी लूणकरणसर संजीव कुमार वर्मा, आरसीएचओ डॉ राजेश कुमार गुप्ता, डिप्टी सीएमएचओ परिवार कल्याण डॉ योगेंद्र तनेजा, डिप्टी सीएमएचओ स्वास्थ्य डॉ लोकेश गुप्ता, जिला टीबी अधिकारी डॉ सी एस मोदी, डॉ नवल किशोर गुप्ता, जिला अस्पताल अधीक्षक डॉ प्रवीण चतुर्वेदी सहित समस्त जिला स्तरीय कार्यक्रम अधिकारी, ब्लॉक सीएमओ, बीपीएम, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के प्रभारी अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *