Thu. Jun 13th, 2024

🌞 *~ वैदिक पंचांग ~* 🌞
🌤️ *दिनांक – 19 जून 2022*
🌤️ *दिन – रविवार*
🌤️ *विक्रम संवत – 2079 (गुजरात-2078)*
🌤️ *शक संवत -1944*
🌤️ *अयन – उत्तरायण*
🌤️ *ऋतु – ग्रीष्म ऋतु*
🌤️ *मास -आषाढ़ (गुजरात एवं महाराष्ट्र के अनुसार -ज्येष्ठ)*
🌤️ *पक्ष – कृष्ण*
🌤️ *तिथि – षष्ठी रात्रि 10:18 तक तत्पश्चात सप्तमी*
🌤️ *नक्षत्र – शतभिषा 20 जून प्रातः 04:53 तक तत्पश्चात पूर्व भाद्रपद*
🌤️ *योग – विष्कम्भ रात्रि 10:52 तक तत्पश्चात प्रीति*
🌤️ *राहुकाल – शाम 05:42 से शाम 07:23 तक*
🌞 *सूर्योदय – 05:58*
🌦️ *सूर्यास्त – 19:21*
👉 *दिशाशूल – पश्चिम दिशा में*
🚩 *व्रत पर्व विवरण –
🔥 *विशेष – षष्ठी को नीम की पत्ती, फल या दातुन मुँह में डालने से नीच योनियों की प्राप्ति होती है। (ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
💥 *रविवार के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*
💥 *रविवार के दिन मसूर की दाल, अदरक और लाल रंग का साग नहीं खाना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75.90)*
💥 *रविवार के दिन काँसे के पात्र में भोजन नहीं करना चाहिए।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, श्रीकृष्ण खंडः 75)*
💥 *स्कंद पुराण के अनुसार रविवार के दिन बिल्ववृक्ष का पूजन करना चाहिए। इससे ब्रह्महत्या आदि महापाप भी नष्ट हो जाते हैं।*
🌞 *~ वैदिक पंचांग ~* 🌞

🌷 *मन्दिर में light कैसी हो* 🌷
👉🏻 *शिव मन्दिर में लप- झप कराने वाली light है तो शिव दर्शन से दूर करती… लप-झप करानेवाली lights मन्दिर में, पूजा के जगह पे रखना नुकसान का काम है, फायदा नहीं … चंचलता बढ़ेगी……*

🌷 *समस्त रोगनाशक उपाय* 🌷
👉🏻 *स्वास्थ्यप्राप्ति हेतु सिर पर हाथ रख के या संकल्प कर इस मंत्र का १०८ बार उच्चारण करें*
🌷 *अच्युतानन्तगोविन्दनामोच्चारणभेषजात् |*
*नश्यन्ति सकला रोगा: सत्यं सत्यं वदाम्यहम् ||*
👉🏻 *‘हे अच्च्युत ! हे अनंत ! हे गोविंद ! – इस नामोच्चारणरूप औषध से समस्त रोग नष्ट हो जाते हैं, यह मैं सत्य कहता हूँ …. सत्य कहता हूँ |’*
🙏🏻 *
🌷 *स्नान* 🌷
➡️ *गो-झरण से स्नान कराने से रोग नष्ट होंगे पाप नष्ट होंगे…स्नान में गो-झरण डाले…पंचगव्य से स्नान करने से पापनाशिनी उर्जा मिलती है ।*
➡️ *कभी बिलि के पत्ते से स्नान करो , कभी उबटन का स्नान करो..कभी गो-झरण का स्नान करो तो कभी दही लगा के स्नान करो… दही लगाके स्नान करने से लक्ष्मी प्राप्ति होती है ..ये सभी शरीर के लिए है….शरीर स्वस्थ रख के अंतरात्मा में आने के लिए ये सब है…*
🙏🏻 *
🙏🏻🌷🌸🌼💐☘🌹🌻🌺🙏🏻

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *